#TEMPLE : मंदिरों की नगरी कोल्हापुर का महालक्ष्मी (अंबाबाई) मंदिर शक्तिपीठों में से एक माना जाता है। दुनियाभर से श्रद्धालु यहां आते हैं। सचद्रि पर्वत श्रृंखलाओं में स्थित कोल्हापुर पंचगंगा नदी के किनारे बसा है। इसे महलों व बगीचों का भी शहर माना जाता है। एक समय यह मराठों का गढ़ था। यहां के महालक्ष्मी मंदिर की मान्यता इतनी है कि तिरुमाला के बालाजी मंदिर का दर्शन कोल्हापुर में महालक्ष्मी मंदिर के दर्शन के बिना अधूरा माना जाता है। यह मंदिर यहां चालुक्य राजाओं के शासनकाल (वर्ष 550 से 660 ई.) के दौरान बनाया गया था। इतिहासकार मानते हैं कि चालुक्य नरेश मंगलेश के शासनकाल में मंदिर में महालक्ष्मी की मूर्ति की स्थापना हुई। कहा जाता है कि यह प्राचीन मंदिर आठवीं सदी में भूकंप के कारण नष्ट हो गया था। आज भी उस मंदिर के कई भग्नावशेष वहां देखे जा सकते हैं। बाद में शिलाहार वंश के शासन में 9वीं से 13वीं सदी तक इसका पुनर्निर्माण हुआ। कोल्हापुर को पश्चिमी भारत का सबसे पुराना धार्मिक व व्यापारिक शहर माना जाता है। इसकी धार्मिक महत्ता के कारण ही इसे दक्षिण के बनारस की भी संज्ञा दी जाती है। – Info by Jagran site

from Instagram: http://ift.tt/10aPYAV
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s